जब बाली को ब्रम्हा जी से ये वरदान प्राप्त हुआ,,
की जो भी उससे युद्ध करने उसके सामने आएगा,,
उसकी आधी ताक़त बाली के शरीर मे चली जायेगी

आज आपको हनुमान जी एक लोक कथा के बारे में बताने जा रहा हूँ,*जिसका विवरण संसार के किसी भी पुस्तक में आपको शायद ही मिलेगा.. जय श्री राम,कथा का आरंभ…

Continue Reading जब बाली को ब्रम्हा जी से ये वरदान प्राप्त हुआ,,
की जो भी उससे युद्ध करने उसके सामने आएगा,,
उसकी आधी ताक़त बाली के शरीर मे चली जायेगी

माघ मास महात्म्य द्वितीय अध्याय

माघ एक ऐसा माह जो भारतीय संवत्सर का ग्यारहवां चंद्रमास व दसवां सौरमास कहलाता है। दरअसल मघा नक्षत्र युक्त पूर्णिमा होने के कारण यह महीना माघ का महीना कहलाता है।…

Continue Reading माघ मास महात्म्य द्वितीय अध्याय

End of content

No more pages to load